Doctor murdered as he could not save buffalo calf from death in Azamgarh

Azamgarh (Uttar Pradesh: when a buffalo’s child died during treatment, some people shot the veterinarian to death. This incident has been disclosed by the police. SP says that two accused have been arrested and the other two will be arrested soon.
A veterinarian was shot dead by unidentified miscreants on February 20 in Azamgarh district of Uttar Pradesh. There is a shocking disclosure in this case. Police have come to know that 59 year old doctor Omnath was murdered on the ground that he did not properly treated for a buffalo’s child who was electrocuted. Azamgarh police busted the case after arresting two accused. The search for two others is still going on.
59-year-old Omnath Pandey, who ran a Homeopathic Veterinary Dispensary in Yehhnagar Daulatabad district, was shot dead by unidentified miscreants near Bhadia. After its case was registered, the police was engaged in search of unknown accused. The name of Lalai Yadav, Vishvnath, Awadhesh Yadav and Shailendra alias Guddu came out during the investigation and discussion.
When the police asked the cause of murder after arresting Vishwaswaranath and Awadhesh, this whole matter came to light. The arrested accused made the statement that the baby of the buffalo buffalo had a corrupt, which was treated by Dr. Omnath Pandey. Buffalo’s child died during treatment. Because of this, there was a shout with fame between Lalai Yadav and Doctor Omnath. To get revenge, Lalai Yadav, along with his friend, shot a doctor and killed him. SP Triveni Singh said that the remaining two accused would be arrested soon. Tanks and cartridges have been recovered along with these accused.
इलाज के दौरान भैंस के बच्चे की मौत होने पर डॉक्टर का किया मर्डर, दो अरेस्ट
आजमगढ़ में भैंस के बच्चे की इलाज के दौरान मौत हो गई तो कुछ लोगों ने पशु चिकित्सक को मौत के घाट उतार दिया। इस घटना का खुलासा पुलिस ने किया है। एसपी का कहना है कि दो आरोपियों को अरेस्ट कर लिया गया है जबकि अन्य दो को भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।
उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले में 20 फरवरी को अज्ञात बदमाशों द्वारा एक पशु चिकित्सक की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में एक चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस को पता चला है कि करंट से झुलसे भैंस के बच्चे का इलाज ठीक से न हो पाने पर 59 वर्ष के डॉक्टर ओमनाथ की हत्या की गई थी। आजमगढ़ पुलिस ने दो अभियुक्तों को गिरफ्तार करने के बाद केस का भंडाफोड़ किया। दो अन्य की तलाश अभी भी जारी है।
जिले के मेंहनगर दौलताबाद में होम्योपैथिक पशु दवाखाना चलाने वाले 59 वर्षीय ओमनाथ पांडेय की हत्या भदया के पास अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर की थी। इसका मुकदमा दर्ज होने के बाद पुलिस अज्ञात अभियुक्तों की तलाश में जुटी थी। जांच और विवेचना के दौरान ललई यादव, विशेश्वनाथ,अवधेश यादव और शैलेंद्र उर्फ गुड्डू का नाम सामने आया।

पुलिस ने विशेश्वरनाथ और अवधेश को गिरफ्तार करने के बाद हत्या का कारण पूछा तो यह पूरा मामला सामने आया। गिरफ्तार अभियुक्तों ने बयान दिया कि ललई की भैंस के बच्चे को करंट लगा था, जिसका इलाज डॉक्टर ओमनाथ पांडेय द्वारा किया गया था। इलाज के दौरान भैंस के बच्चे की मौत हो गई। इसकी वजह से ललई यादव और डॉक्टर ओमनाथ के बीच कहासुनी के साथ धक्कामुक्की हुई। बदला लेने के लिए ललई यादव ने अपने दोस्त के साथ मिलकर डॉक्टर की गोली मारकर हत्या कर दी थी। एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि बाकी दोनों अभियुक्तों की भी जल्द गिरफ्तारी की जाएगी। इन अभियुक्तों के पास तमंचा व कारतूस भी बरामद हुआ है।