निशांत ने मोबाइल का डाटा डिलीट कर खेला था खूनी खेल, कर्ज या तलाक की उलझी गुत्थी

पटना, जेएनएन। शहर के बड़े व्यवसायी निशांत सर्राफ के परिवार की संदिग्ध मौत की गुत्थी 58 कॉल, वाट्सएप चैटिंग, तीन मोबाइल और एक टैब से सुलझ सकती है। फोरेंसिक की टीम लगातार जांच में जुटी है। सूत्रों की मानें तो निशांत सर्राफ ने अपनी पत्नी अलका, बेटी अनन्या, बेटे इशांत को गोली मारने और खुद को उड़ाने के पहले मोबाइल के सभी डाटा डिलीट कर दिए थे। निशांत के पास एप्पल के दो मोबाइल और एक टैब था, जबकि पत्नी के पास एक मोबाइल था। जिसे पुलिस ने कमरे से बरामद कर लिया था। जांच टीम तीनों मोबाइल और टैब के डाटा रिकवर कर रही है। कुछ सफलता हाथ लगी है।

गौरतलब है कि मंगलवार की सुबह सवा नौ बजे कोतवाली थाने के किदवईपुरी में रहने वाले अशोक सर्राफ के छोटे बेटे निशांत सर्राफ, उसकी पत्नी अलका सर्राफ, बेटी अनन्या की लाश कमरे के बिस्तर पर मिली थी। जबकि चार वर्षीय बेटा इशांत गोली लगने से गंभीर रूप से जख्मी हुआ था। सभी को गोली मारी गई थी।

मौके से पुलिस ने .32 एमएम के चार खाली कारतूस, एक लाइसेंसी पिस्टल और सुसाइड नोट बरामद किया था जिस पर निशांत के हस्ताक्षर थे। सुसाइड नोट की लिखावट और अक्षर की जांच की जा रही है। वहीं पिस्टल को भी बैलेस्टिक जांच के लिए भेज दिया गया है।

जांच टीम में शामिल सूत्रों का कहना है कि घटना के दिन सुबह से लेकर रात पौने दस बजे तक निशांत के मोबाइल से आउटगोइंग और इनकमिंग मिलाकर कुल 42 कॉल हुईं थीं। जबकि उनकी पत्नी के मोबाइल से 16 कॉल हुईं। पुलिस की टीम कॉल डिटेल्स खंगाल रही है। निशांत के मोबाइल पर घटना के दिन रात पौने दस बजे के बाद न तो कोई कॉल आई है और नहीं गई है।

फोरेंसिक टीम को मोबाइल में इक्के-दुक्के नंबर ऐसे भी हाथ लगे हैं, जिस पर घटना के दिन कुछ अंतराल पर आठ बार बात हुई थी। पुलिस उस नंबर की तहकीकात कर रही है। जो लगातार स्विच ऑफ है। वहीं जांच के दौरान वाट्सएप की भी पड़ताल की है। जिससे कई नंबरों पर चैटिंग की गई है। मोबाइल कॉल, वाट्सएप चैटिंग इस मर्डर मिस्ट्री आत्महत्या या हत्या की गुत्थी सुलझा सकती है।

जांच के लिए फिर सर्राफ निवास पहुंची पुलिस

बुधवार को निशांत के घर डीएसपी लॉ एंड ऑर्डर और फोरेंसिक टीम में शामिल कुछ अधिकारी पड़ताल करने गए। अधिकारियों ने उस कमरे की गहनता से जांच की, जिसमें घटना को अंजाम दिया गया था। वहीं पुलिस ने मकान के बाहर और अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को खंगाला।

कमरे से मिली निशांत की चिट्ठी, 12 लाख रुपये कर्ज का है जिक्र

बड़े कारोबारी अशोक सर्राफ के छोटे बेटे निशांत सर्राफ, पत्नी अलका, बेटी अनन्या की गोली लगने से मौत मामले में बुधवार को जांचकर्ता दारोगा धर्मेंद्र और एएसआइ सुजाता कुमारी को तलाशी में निशांत और अलका के कमरे से तलाक संबंधित कागजात मिले। उसपर अलका के हस्ताक्षर भी हैं। हालांकि, अब तक कोर्ट में तलाक की अर्जी दायर नहीं हुई थी।

इधर, गोली लगने से घायल इशांत की हालत नाजुक बनी है। परिवार के लोग शोकाकुल हैं। अलका के घरवाले भी पश्चिम बंगाल से पटना पहुंच चुके हैं।

पिता के नाम छोड़ गए पत्र

निशांत के कमरे से पुलिस को एक और चिठ्ठी मिली है। उन्होंने यह पत्र पिता को संबोधित करते हुए लिखा था। इसमें एक रसूखदार के नाम का जिक्र करते हुए लिखा था कि मैंने उनसे 12 लाख रुपये कर्ज के रूप में लिया है। आप (पिता) उन्हें (कर्ज देने वाले) सूद समेत रुपये लौटा दीजिएगा। उनसे कर्ज देने की वजह मत पूछिएगा।

डिप्रेशन में थे निशांत

पुलिस को घर की तलाशी और परिजनों से पूछताछ के बाद पता चला कि निशांत लंबे समय से डिप्रेशन के शिकार थे। उनकी अनुपस्थिति में नए दुकान की ओपनिंग की गई थी। परिवारवालों ने ओपनिंग समारोह में फिल्म अभिनेत्री अमिषा पटेल को बुलाया था, लेकिन निशांत ने कार्यक्रम में दिलचस्पी नहीं ली थी।

Nishant had deleted all mobiles’ data befre killing family and self