कांग्रेस में इस्‍तीफों का दौर, मिलिंद देवड़ा व ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने दिया इस्‍तीफा

नई दिल्ली,। लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार के बाद से कांग्रेस पार्टी में लगातार इस्तीफों का दौर जारी है। हाल ही में कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए अब मिलिंद देवड़ा ने मुंबई कांग्रेस अध्‍यक्ष के पद से और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कांग्रेस महासचिव पद से इस्‍तीफा दे दिया है। मिलिंद देवड़ा ने आगामी महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों के लिए मुंबई कांग्रेस का नेतृत्व करने के लिए तीन सदस्यीय पैनल का भी प्रस्ताव दिया है।
ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने ट्वीट कर कहा कि जनादेश को स्‍वीकार करते हुए हार की जिम्‍मेदारी लेता हूं। मैं कांग्रेस महासचिव पद से इस्‍तीफा राहुल गांधी को सौंप दिया है। मैं उन्हें इस जिम्मेदारी को सौंपने के लिए और मुझे अपनी पार्टी की सेवा करने का अवसर देने के लिए धन्यवाद देता हूं।
बाद में ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया ने कहा कि मैंने आज इस्‍तीफा नहीं दिया है। मैंने कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी को 8-10 दिन पहले इस्‍तीफा दे दिया था।
इससे पहले आज ही यानी रविवार को इंडियन यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष केशव चंद यादव के भी इस्‍तीफा देने की खबर सामने आई। केशव चंद यादव ने हार कि जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी को एक चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में उन्होंने कहा है कि मैं 2019 लोकसभा चुनावी में पार्टी की हार की पूरी जिम्मेदारी लेता हूं और अपने वर्तमान पद से इस्तीफा दे देता हूं।
उन्होंने आगे लिखा कि मैं भारत के विकास और कल्याण के लिए आपसे प्रेरित होकर राजनीति में शामिल हुआ था। आइवाइसी (इंडियन यूथ कांग्रेस) में आपके क्रांतिकारी कदम के कारण ही मेरे जैसा एक आम आदमी राजनीति में जगह बना सका। आप अच्छी तरह से जानते हैं कि मैंने एक सामाजिक कार्यकर्ता से लेकर पार्टी स्तर के कार्यकर्ता और वर्तमान में इंडियन यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में काम किया।
बता दें कि उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के रहने वाले केशव चंद यादव को पिछले साल मई में यूथ कांग्रेस का प्रमुख नियुक्त किया गया था। वह भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रह चुके है। केशव चंद पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के प्रभारी भी थे।