बच्चे की चाहत में रेलवे स्टेशन से दूसरे की बच्ची को चुराया; पुलिस ने 24 घंटे में केस सुलझा लिया

​नई दिल्ली; हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पर 2 साल की बच्ची के अपहरण के केस को चौबीस घंटे में सुलझाते हुए रेलवे पुलिस ने इस केस में एक दंपती को गिरफ्तार करके बच्ची को सकुशल बरामद कर लिया। बच्चे की चाह के चलते पति-पत्नी ने मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया था। ये लोग रेलवे स्टेशन पर सो रहे एक दंपती की 2 साल की बच्ची को चुपके से उठाकर ले गए थे, लेकिन स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों में पूरी वारदात रिकॉर्ड हो गई।
डीसीपी (रेलवे) दिनेश कुमार गुप्ता के मुताबिक, आरोपियों की पहचान रति भावन उर्फ राजू दुबे (28) और उसकी पत्नी पिंकी (24) के रूप में हुई। यूपी के गोंडा जिले का रहने वाला राजू हजरत निजामुद्दीन स्टेशन पर एक वेंडर की दुकान में काम कर रहा था। तीन साल पहले उसकी शादी गाजियाबाद की पिंकी से हुई थी। पिंकी यह दूसरी शादी थी। राजू बच्चा चाहता था और इसके लिए लगातार पिंक पर दबाव बना रहा था, लेकिन पिंकी मां नहीं बन सकती थी। इसे देखते हुए दोनों ने किसी बच्चे को किडनैप करके उसे अपने बच्चे की तरह पालने का फैसला किया।
पुलिस के मुताबिक, महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में आई बाढ़ के चलते मजदूरी करके अपना घर चलाने वाले कुछ परिवार पिछले हफ्ते काम की तलाश में दिल्ली चले आए थे। हालात ठीक होने के बाद परिवार के बाकी लोग महाराष्ट्र लौट गए थे। शिकायतकर्ता भी शुक्रवार सुबह महाराष्ट्र जाने वाली ट्रेन से अपने गांव लौटने वाला था। चूंकि ट्रेन सुबह जल्दी छूटने वाली थी, इसलिए वह अपनी पत्नी और दो साल की बच्ची को लेकर रात को ही निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पहुंच गया था। ये लोग सोए हुए थे, उसी दौरान पिंकी और राजू उनकी बच्ची को उठा ले गए थे।