कुरान पर आपत्तिजनक पोस्ट पर रांची कोर्ट का कुरान बांटने का आदेश, रिचा बोली-नहीं मानूंगी

रांची : फेसबुक पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने के कारण झारखंड की एक अदालत द्वारा कुरान की 5 प्रतियां बांटने का ऑर्डर पाने वाली छात्रा रिचा भारती ने कोर्ट के आदेश को मानने से इनकार कर दिया है। रिचा ने कहा कि यह सही नहीं है। बता दें कि कोर्ट के इस फैसले पर सोशल मीडिया पर भी काफी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। उल्लेखनीय है कि झारखंड में रांची की एक अदालत ने रिचा को इस शर्त पर जमानत दी थी कि वह कुरान की 5 प्रतियां बांटेंगी।
रिचा ने एक निजी चैनल से कहा, ‘नहीं, मैं कुरान नहीं बांटना चाहती हूं।’ उन्होंने कहा, ‘आज कुरान बंटवा रहे हैं, कल बोलेंगे तुम इस्लाम स्वीकार कर लो।’ बता दें कि आपत्तिजनक पोस्ट मामले में रिचा पर केस दर्ज किया गया था। इसके बाद पुलिस ने रिचा को अरेस्‍ट कर‍ लिया था और उसे जेल में डाल दिया था। हिंदू संगठनों समेत स्‍थानीय लोगों ने पुलिस के इस कदम का कड़ा विरोध किया था। शनिवार को स्‍थानीय लोगों ने पुलिस स्‍टेशन के सामने धरना प्रदर्शन किया था। इसके बाद पुलिस ने आश्‍वासन दिया था कि रिचा को जल्‍द ही रिहा किया जाएगा।
न्‍यायिक मैजिस्‍ट्रेट मनीष सिंह ने आरोपी रिचा भारती को जमानत दी थी और कहा था कि वह कुरान की एक कॉपी अंजुमन इस्‍लामिया कमिटी और 4 अन्‍य कापियां विभिन्‍न स्‍कूलों और कॉलेजों को दान करें। रिचा के वकील राम प्रवेश सिंह ने कहा, ‘अदालत ने सशर्त जमानत दी है। इसके तहत रिचा को प्रशासन की मौजूदगी में अंजुमन इस्‍लामिया को कुरान की एक प्रति सौंपनी होगी और उसकी रशीद लेनी होगी।’
अधिवक्‍ता प्रवेश सिंह ने कहा, ‘रिचा को स्‍थानीय पुलिस की मदद से विभिन्‍न स्‍कूलों और कॉलेजों को कुरान की 4 प्रतियां दान करनी होंगी। रिचा को अगले 15 दिन के अंदर पांचों की रशीद कोर्ट में जमा करनी होगी।’