तिहाड़ में रहस्यमयी आवाजों की अफवाह से कैदियों की उड़ी नींद, महिला का साया दिखाई देता

नई दिल्ली: जेल अपने आप में खौफ वाली जगह है लेकिन तिहाड़ जेल में आजकल एक अफवाह फैल रही है, जिसने महिला कैदियों में और दहशत पैदा कर दी है। कुछ महिला कैदियों ने दावा किया है कि उनको रात में एक महिला का साया दिखाई देता है। तेज रोने की आवाज सुनाई देती है, जो उन्हें सोने नहीं देती। कुछ महिला कैदियों के मन में डर बैठ गया है। रात के दो बजते ही कैदी महिलाएं डरने लगती हैं और चीखने लगती हैं।
सूत्रों का कहना है कि दहशत का यह हाल इन दिनों तिहाड़ की महिला जेल नंबर-6 में हो रहा है। रात में चिल्लाने वाली इन महिला कैदियों का कहना है कि अधिकतर वक्त तो किसी महिला कैदी के रोने की यह आवाज रात के 2 बजे के आसपास ही सुनने को मिलती है, लेकिन कई बार कुछ महिला कैदियों ने इस तरह की आवाजें सुनने की शिकायत दिन के वक्त भी की है।
महिला कैदियों के दावों और रहस्यमयी आवाजों का क्या सच है, इस बारे में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता। जेल में तरह-तरह की अफवाहें फैलने लगी हैं। कोई कह रहा कि कैदी महिला ने यहां आत्महत्या की होगी, जिसका साया भटक रहा है तो कोई इसी में और बातें जोड़ दे रहा है कि आत्महत्या करने वाली कैदी महिला बेकसूर रही होगी, इसलिए ही यहां उसके रोने की आवाजें सुनाई दे रही हैं लेकिन साइंस के दौर में ये सब बातें बेमानी हैं।
बात यहीं खत्म नहीं हो रही है। इन महिलाओं के रात में चिल्लाने को लेकर ये बात भी फैल रही है कि रहस्यमयी साया दिखनी वाली बात कुछ महिला कैदियों के मन का वहम है या फिर वह किसी बीमारी से ग्रसित हैं। सच क्या है, यह जांच का विषय है। इसकी जल्द जांच हो ताकि अफवाहें फैलने पर रोक लग सके। इन अफवाहों से उन महिलाओं के मन में भी डर पैदा हो रहा है जिन्हें आवाजें सुनाई नहीं देतीं।