जबलपुर से तस्करी की गयी थी AK 47 असॉल्ट राइफल बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह को

बिहार के बाहुबली निर्दलीय विधायक अनंत कुमार सिंह (Anant Singh)के घर AK47 मिलने से हर किसी के होश फाख्ता हो गए. बिहार की मोकामा सीट से इस निर्दलीय विधायक अनंत कुमार सिंह के घर पुलिस ने छापा मारकर एक ए के 47 राइफल, 26 कारतूस और दो हैंड ग्रेनेड ज़ब्त किए थे. विधायक और इन हथियारों का कनेक्शन जबलपुर से है. उधर अनंत सिंह के ख़िलाफ बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) पर विधायक पर अनलॉफुल एक्टिविटी प्रीवेंशन एक्ट (UAPA) के तहत कार्रवाई होगी.
बिहार के एक बाहुबली विधायक अनंत सिंह इन दिनों सुर्ख़ियों में हैं. उनके घर पर मिली AK47 अलॉल्ट राइफल के कारण वो फिर चर्चा में हैं. सूत्रों के मुताबिक पटना बाढ़ के लदमा गांव स्थित विधायक के गांव से ज़ब्त ए के 47 अलॉल्ट राइफल जबलपुर के सीओडी फैक्ट्री में बनी थी. राइफल तस्करी कर बिहार के मुंगेर भेजी गयी थी. पूरे मामले में पटना पुलिस ने NIA डीएसपी दिनेश कुमार मालवीय को इसकी सूचना दी है. इस खबर के बीच अब NIA टीम के जबलपुर पहुंचने की संभावना है.
क्या था ए के 47 तस्करी का पूरा मामला ?
29 अगस्त 2018 को बिहार के मुंगेर में 3 एके 47 राइफल पकड़ी गई थीं. उनका कनेक्शन जबलपुर से निकला था.बिहार मुंगेर में पकड़े गए आरोपी इमरान के ज़रिए तस्करी के इस खेल का ख़ुलासा हुआ था. बाद में इसके तार जबलपुर की सुरक्षा संस्थान सीओडी से जुड़े मिले थे. RSSD सेक्शन से ए के 47 हथियारों को मुंगेर सप्लाई किया जा रहा था. ये अवैध धंधा 2012 से फल फूल रहा था जिसमें फैक्ट्री से रिटायर्ड एक्स आर्मर पुरुषोत्तमलाल रजक और सीओडी के सीनियर स्टोर मैनेजर सुरेश ठाकुर शामिल थे.
COD का स्टाफ शामिल
सीओडी में बड़े अधिकारी के रूप में पदस्थ सुरेश ठाकुर, सीओडी के सीएसएसडी सेक्शन से एके 47 राइफल की तस्करी करते थे. ये वो राइफल होती थीं जो खराब होती थीं और उन्हें सुधरवाने के नाम से निकाला जाता था. पुरुषोत्तम लाल रजक हथियारों की तकनीकी जानकारी रखता था. उसे एके 47 के कलपुर्जे जोड़कर उन्हें असेंबल करना आता था. बंदूक में क्या तकनीकी खामी है इसकी जानकारी सुरेश, पुरुषोत्तम लाल को पहले दे देता था.
ख़राब हथियारों की आड़ में तस्करी
खराब हो चुकी एके 47 राइफल्स को सुरेश बड़ी चालाकी से सीओडी फैक्ट्री के बाहर अपनी आई 10 कार में लाता था और पुरुषोत्तम को सौंपकर देता था. पुरुषोत्तम उन हथियारों की तस्करी बिहार में कर देता था. एक राइफल 5 लाख रुपए में सप्लाई की जाती थी.
70 AK 47 राइफल्स की तस्करी
जब तस्करी के इस खेल का ख़ुलासा हुआ तब तक जबलपुर के इस रक्षा संस्थान से 2012 से लेकर अब तक करीब 70 ए के 47 असॉल्ट राइफल्स की तस्करी की जा चुकी थी. इस मामले की व्यापक जांच हुई. जांच एजेंसियां बिहार तक भागदौड़ करती रहीं लेकिन उनमें से अभी तक सिर्फ 30 एके 47 राइफल्स ही ज़ब्त हो पायी हैं. इस पूरे मामले में 32 से ज़्यादा लोग गिरफ़्तार किए जा चुके हैं.
बिहार के बाहुबली विधायक अनंत सिंह (Anant Singh) पर विधायक पर अनलॉफुल एक्टिविटी प्रीवेंशन एक्ट (UAPA) के तहत कार्रवाई होगी. उनके खिलाफ पटना जिले के बाढ़ थाना में आर्म्स एक्ट (Arms Act), गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (UAPA) अधिनियम और विस्फोटक अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है.