Bird flu hits Jabalpur distrct; Confirmation of 5 patients

Bhopal, August 27, 2019 (Ataullah Faizan): . After the swine flu in Jabalpur, now H3N2 ie bird flu has struck. The H3N2 virus is spread by humans, animals and birds, also known as enfluenza. 5 patients have been confirmed in the district. Those who are being treated at Netaji Subhash Chandra Bose Medical College and Hospital.
14 deaths due to swine flu so far
According to experts, the virus spreads to birds, animals and humans. It is also a type of bird flu. Jabalpur has had havoc of swine flu till now, in which more than 60 patients were found positive throughout the year. While 14 deaths have been due to swine flu so far this year. Presently 7 swine flu positive patients are being treated at the Medical Hospital in Jabalpur.
Bird flu is caused by swine flu itself: Now the risk of bird flu has increased due to the presence of 5 positive patients of H3N2 virus having symptoms of bird flu. H3N2 wire also spreads from H1N1 of swine flu, due to which there are many problems in patients.
These are the symptoms of bird flu: high fever, feeling of weakness, headache and sore throat, severe pain and tightness in the body, doctors are advising people to be cautious in this season.

जबलपुर में बर्ड फ्लू की दस्तक; 5 मरीज़ों की पुष्टि
जबलपुर. जबलपुर में स्वाइन फ्लू के बाद अब एच3एन2 यानि बर्ड फ्लू ने दस्तक दे दी है। एच3एन2 वायरस मनुष्य, पशु और पक्षियों से फैलता है, जिसे एनफ्लूएन्जा भी कहा जाता है। जिले में 5 मरीजों की पुष्टि हो गई है। जिनका इलाज नेताजी सुभाषचंद्र बोस मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में किया जा रहा है।
अब तक स्वाइन फ्लू से 14 मौतें
विशेषज्ञों के अनुसार, वायरस पक्षियों, पशु और मनुष्यों में फैलता है। ये एक किस्म का बर्ड फ्लू भी होता है। जबलपुर में अब तक स्वाइन फ्लू का कहर था, जिसमे पूरे साल में करीब 60 से ज्यादा मरीज़ पॉजिटिव पाए गए थे। जबकि 14 मौतें अब तक स्वाइन फ्लू से इस साल हो चुकी हैं। इस समय 7 स्वाइन फ्लू पॉजिटिव मरीज़ों का इलाज जबलपुर के मेडीकल अस्पताल में चल रहा है।
स्वाइन फ्लू से ही होता है बर्ड फ्लू : बर्ड फ्लू के लक्षण वाले एच3एन2 वायरस के 5 मरीज़ पॉजिटिव मरीज पाए जाने से अब बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ गया है। एच3एन2 वायर भी स्वाइन फ्लू के एच1एन1 से ही फैलता है, जिसके होने से मरीज़ों में कई तरह की परेशानी होती है।
ये हैं बर्ड फ्लू के लक्षण : तेज बुखार होना, कमज़ोरी महसूस होना, सिर दर्द और गले में तकलीफ होना, शरीर में तेज दर्द और जकड़न महसूस करना, चिकित्सक इस मौसम में लोगों को सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं।