Former Vice Chancellor Kuthiala appears before EOW; Inquiries lasted 5 hours

Bhopal. Former vice-chancellor of Bhopal-based Makhanlal Chaturvedi National Journalism and Mass Communication University, BK Kuthiala appeared before the Economic Offenses Cell (EOW) on Friday. EK officials have long questioned BK Kuthiala. It has inquired about alleged irregularities in the university during his tenure.
The special court of Bhopal had issued the order for attachment of property in the absence of BK Kuthiala till 31 August. Earlier, the team of Eodelu went to Chandigarh in search of BK Kuthiyala, but they did not meet there.
The former vice-chancellor is an accused in the scam case at Kuthiala University. He is accused of serious economic irregularities in recruitment and other matters while being vice-chancellor. As soon as BK Kuthiyala arrived at the EOW office, the officials started questioning him regarding the scam.
Appeal was filed in the court on 26 August
Former Vice Chancellor BK Kuthiala, the main accused in the university scam, is getting increasingly difficult. To avoid the attachment action, he appeared in the Bhopal District Court on August 26 and gave an application in the court to end the absconding action and not to attach the property. On this application, the court sought response from EOW.
Court will decide whether to attach or not
The EOW has prepared a response. It has been filed in court on Friday. It is being told that even though Kuthiala has appealed to the court not to take action on the attachment, EOW was adamant on questioning him. The case is scheduled for hearing on 31 August. The court will decide whether to take action against Kuthiala or not.
ईओडब्ल्यू के सामने पेश हुए पूर्व कुलपति कुठियाला; 5 घंटे चली पूछताछ
भोपाल. भोपाल स्थित माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति बीके कुठियाला शुक्रवार को आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (ईओडब्ल्यू) के सामने पेश हुए। ईओडब्ल्यू के अधिकारियों ने बीके कुठियाला से लंबी पूछताछ की है। इसमें उनके कार्यकाल के दौरान विश्वविद्यालय में हुईं कथित अनियमितताओं के बारे में पूछताछ की गई है।
भोपाल की विशेष अदालत ने 31 अगस्त तक बीके कुठियाला के पेश नहीं होने पर संपत्ति कुर्की के आदेश जारी किए थे। इसके पहले ईओडल्यू का टीम बीके कुठियाला की तलाश में चंडीगढ़ तक गई थी, लेकिन वे वहां नहीं मिले।
पूर्व कुलपति कुठियाला विश्वविद्यालय में हुए घोटाले के मामले में आरोपी हैं। उन पर कुलपति रहते हुए भर्ती और अन्य मामलों में गंभीर आर्थिक अनियमितता का आरोप है। बीके कुठियाला जैसे ही ईओडब्ल्यू के दफ्तर पहुंचे अफसरों ने घोटाले के संबंध में उनसे पूछताछ शुरू कर दी।
26 अगस्त को कोर्ट में पेश होकर लगाई थी अर्जी
विश्वविद्यालय में हुए घोटाले के मुख्य आरोपी पूर्व कुलपति बी के कुठियाला की मुश्किल बढ़ती जा रही हैं। कुर्की की कार्रवाई से बचने के लिए वो 26 अगस्त को भोपाल जिला कोर्ट में पेश हुए थे और कोर्ट में फरारी की कार्रवाई खत्म करने के साथ संपत्ति कुर्की नहीं करने का आवेदन दिया था। इसी आवेदन पर कोर्ट ने ईओडब्ल्यू से जबाव मांगा था।
कोर्ट करेगा कुर्की करने या न करने का फैसला
ईओडब्ल्यू ने जबाव तैयार कर लिया है। इसे शुक्रवार को कोर्ट में दाखिल किया गया है। बताया जा रहा है कि भले ही कुठियाला ने कोर्ट से कुर्की की कार्रवाई नहीं करने की अपील की है, लेकिन ईओडब्ल्यू उनसे पूछताछ करने पर अड़ा था। 31 अगस्त को मामले की सुनवाई है। कुठियाला के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की जाए या फिर नहीं इसका फैसला कोर्ट करेगा।