लड़की ने किया इनकार, किया मर्डर, 5 टुकड़ों में काटा शरीर

नई दिल्ली : जीबी रोड के एक कोठे से शुरू हुई मोहब्बत की कहानी कत्ल तक पहुंच गई। 4 साल पहले जीबी रोड के कोठे में शबनम (काल्पनिक नाम) की मुलाकात मोहम्मद अयूब से हुई थी। वह मुलाकात जल्द ही मोहब्बत में तब्दील हो गई। मोहब्बत इस मुकाम तक पहुंच गई कि शबनम के लिए अयूब अपनी पत्नी और 3 बच्चों तक को छोड़ने के लिए तैयार हो गया। लेकिन शबनम को अयूब का ऑफर और अयूब को शबनम की मनाही रास नहीं आई। फिर क्या था। मोहब्बत की कहानी कत्ल में तब्दील होते देर न लगी।
सभी कॉमेंट्स देखैंअपना कॉमेंट लिखेंदरअसल शबनम अपनी पुरानी जिंदगी नहीं छोड़ने को बिल्कुल तैयार नहीं थी। इसलिए उसने अयूब के शादी के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। शबनम शादी के लिए तैयार नहीं थी। अयूब यह इनकार बर्दाश्त नहीं कर पाया और उसने शबनम को मौत के घाट उतार दिया। वह मौत को दर्दनाक और क्रूर बनाना चाहता था। मन में गुस्सा हत्या के बाद भी भरा रहा और आरोपी ने बॉडी के एक, दो, तीन नहीं, बल्कि पांच टुकड़े कर दिए और बॉडी को बवाना नहर के पास फेंक दिया।
आरोपी खुद दिल्ली से बाहर भागने की तैयारी में जुट गया। आरोपी ने 20 अगस्त की रात को शबनम की हत्या की। 21 अगस्त की सुबह ही पुलिस को जानकारी मिल गई और केएन काटजू पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज करके जांच शुरू की। हालांकि आरोपी के बारे में पता करना तो दूर, पुलिस 10 दिन तक शव की ही पहचान नहीं कर पाई।
दूसरी तरफ, स्पेशल सेल को एक आरोपी के दिल्ली से भागने की जानकारी मिली। एसीपी ललित मोहन नेगी, ह्रदय भूषण की टीम को पता चला कि एक बदमाश, जिसने कोई क्राइम किया है, वह दिल्ली से भागने की फिराक में है। इसके बाद पुलिस ने 30 अगस्त की रात आरोपी को दबोच लिया। पुलिस को आरोपी के क्राइम के बारे में कुछ नहीं पता था इसलिए पूछताछ शुरू हुई। डीसीपी स्पेशल सेल प्रमोद सिंह कुशवाह ने बताया कि पूछताछ में आरोपी टूट गया और उसने पुलिस की टीम को कत्ल वाली काली रात की पूरी कहानी सुना दी। पुलिस के मुताबिक, आरोपी के पकड़े जाने के बाद ही शव की पहचान हो सकी।
10 साल की शादी पर भारी पड़ी 4 साल की मोहब्बत
आरोपी की 10 साल पहले शादी हुई थी। उसके 3 बच्चे हैं। वह अनपढ़ था और रेहड़ी लगाकर कपड़े बेचता था। आरोपी अक्सर जीबी रोड के कोठे में जाता था और 4 साल पहले कोठे में ही उसकी मुलाकात शबनम से हुई। आरोपी उसकी मोहब्बत में अपना परिवार भूल गया और जब उस मोहब्बत ने उसे छोड़ा, तो वह अपना आपा खो बैठा।