बिहार / केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की गाड़ी बिना फाइन छोड़ी, एसआई समेत तीन पुलिसकर्मी निलंबित

पटना. यहां वाहन चेकिंग के दौरान रविवार को केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की कार को बिना कार्रवाई के छोड़े जाने पर एसआई समेत तीन पुलिसकर्मियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। जबकि कुछ ही समय बाद सांसद रामकृपाल यादव की कार में काली फिल्म लगी पाई तो यातायात पुलिस ने एक हजार रुपए जुर्माना लगाया। दोनों नेताओं की गाड़ी में उनके बेटे और परिवार के सदस्य थे।
रविवार को बिहार म्यूजियम के पास सुबह 11 से शाम 5 बजे तक विशेष चेकिंग अभियान चलाया गया। यहां दोपहर एक बजे पुलिस ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे की गाड़ी को रोका। आगे की सीट पर उनका बेटा और बहू बिना सीट बेल्ट बांधे बैठे थे, जबकि पिछली सीट पर उनकी पत्नी बैठी थीं। मंत्री के बेटे ने गाड़ी को बिहार म्यूजियम के गेट से 100 मीटर आगे रोका। पुलिस ने कार्रवाई की जगह गाड़ी को आधा घंटे तक रोके रखा।
मंत्री परिवार पुलिस कार्रवाई का इंतजार करता रहा
कुछ देर तक पुलिस की कार्रवाई का इंतजार करने के बाद मंत्री का बेटा गाड़ी लेकर चला गया। इसकी जानकारी प्रमंडलीय आयुक्त को हुई तो उन्होंने मौके पर मौजूद एसआई देवपाल पासवान, बीएमपी-2 के सिपाही पप्पू कुमार और जिला पुलिस के सिपाही दिलीप चंद्र सिंह को निलंबित करने का आदेश दिया।
कार्रवाई के डर से सांसद की कार देख गलती नहीं दोहराई
इसी दौरान वहां से गुजर रही सांसद रामकृपाल यादव की गाड़ी पर काली फिल्म लगी थी। गाड़ी में सांसद के पुत्र थे। वे भी बिना सीट बेल्ट बांधे बैठे थे। कार्रवाई होती देख अन्य पुलिसकर्मियों ने इस बार गलती नहीं की। सांसद की गाड़ी पर कार्रवाई करते हुए एक हजार रुपए जुर्माना वसूला।
नए नियम के तहत हो रही है चेकिंग
प्रमंडलीय आयुक्त आनंद किशोर ने बताया कि नए ट्रैफिक नियमों के तहत वाहनों की चेकिंग की जा रही है। किसी को भी ट्रैफिक नियम तोड़ने की छूट नहीं है। जो भी नियम तोड़ेगा उसके खिलाफ कार्रवाई होगी। इसमें लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी एक्शन लिया जाएगा।