कान में हैंड्स फ्री लगाकर ड्राइव करने पर भी लगेगा 5000 रुपये जुर्माना

नई दिल्ली: अगर खुलेआम सबसे ज्यादा किसी ट्रैफिक रूल का वायलेशन होता है, तो वह है मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाना। वहीं गंभीर ट्रैफिक वायलेशंस की कैटिगरी में अगर सबसे कम किसी मामले में ऐक्शन होता है, तो वह भी मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाने के मामले में ही होता है। लेकिन यदि आप कान पर मोबाइल रखकर या हैंड्स फ्री के जरिए बात करते हुए ड्राइव करते पाए गए तो 5000 रुपये का जुर्माना देना होगा।
यह भी पढ़ें: चालान से बचने के लिए क्या-क्या दस्तावेज हैं जरूरी? जानिए जरूरी ट्रैफिक नियम
बस, ट्रक और कार से लेकर बाइक, स्कूटर और साइकल पर सवार लोग भी मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाने से नहीं हिचकिचाते हैं। कार, बस और अन्य मीडियम या हेवी गाड़ियां चला रहे लोगों के मामले में तो सड़कों पर लगे कैमरे भी बेबस नजर आते हैं, क्योंकि वे इस ऑफेन्स को पकड़ नहीं पाते हैं, जबकि बाइक और स्कूटर वाले भी आमतौर पर ट्रैफिक पुलिस को गच्चा देकर निकल जाते हैं। ऊपर से अब वायर वाले हैंड्स फ्री से लेकर ब्लूटूथ से चलने वाले सस्ते वायरलेस हैंड्स फ्री डिवाइस भी मार्केट में आसानी से मिलने लगे हैं।
इसने मोबाइल पर बात करते-करते गाड़ी चलाना और आसान कर दिया है। ट्रैफिक पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, अब मोटर वीइकल ऐक्ट में संशोधन के बाद मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाते हुए पकड़े गए लोगों पर लगने वाले जुर्माने में भी भारी बढ़ोतरी हो गई है। पहले जहां इस वायलेशन में 1000 रुपये का चालान कटता था, वहीं अब जुर्माना 5 गुना बढ़ाकर 5000 रुपये कर दिया गया है।