मुजफ्फरपुर कांडः पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के 5 ठिकानों पर CBI की छापेमारी

मुजफ्फरपुर बालिका गृह में नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने शुक्रवार को जांच को आगे बढ़ाते हुए पूर्व समाज कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के आवास सहित बिहार में पांच जगहों पर छापेमारी की. सीबीआई की टीम ने बिहार की पूर्व समाज कल्याण मंत्री के पटना स्थित तीन आवासों की तलाशी ली.
मंजू वर्मा के पटना स्थित सरकारी आवास पर सुबह तकरीबन 7:30 बजे CBI की टीम पहुंची. पटना के अलावा सीबीआई की टीम मंजू वर्मा के कुल 5 ठिकानों पर छापेमारी की. इसमें बेगूसराय स्थित चेरिया बरियारपुर विधानसभा क्षेत्र के अंदर आने वाला उनके पैतृक गांव श्रीपुर का घर भी शामिल है. वहां सीबीआई की 12 सदस्यीय टीम छापेमारी में शामिल है.
माना जा रहा है कि सीबीआई को मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में मंजू वर्मा के खिलाफ ठोस इनपुट मिला है. इसके बाद तकरीबन दर्जनभर सीबीआई अधिकारियों की टीमें छापेमारी में लगी हुई हैं. सीबीआई की इस कार्रवाई से यह बात साफ है ब्रजेश ठाकुर के साथ संबंधों को लेकर मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा सीबीआई के रडार पर हैं. मुज़फ़्फ़रपुर बालिकागृह कांड में पति का नाम आने की वजह से मंजू वर्मा ने 8 अगस्त को मंत्री पद से इस्तीफा दिया था.
दिल्ली में एक सीबीआई अधिकारी ने बताया कि इस मामले में मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर के दोस्तों के मुजफ्फरपुर, मोतीहारी और बेगूसराय स्थित परिसरों में भी खोज की गई.
गौरतलब है कि मंजू वर्मा जुलाई में इस बात का खुलासा होने के बाद से लगातार विपक्ष के निशाने पर हैं कि बालिका गृह में 34 नाबालिग लड़कियों के साथ दुष्कर्म करने के मुख्य आरोपी के उनके पति चंद्रेश्वर वर्मा के साथ घनिष्ठ संबंध थे. मंजू वर्मा ने आठ अगस्त को इस्तीफा दे दिया था। दो जून को गिरफ्तारी के बाद से ठाकुर मुजफ्फरपुर जेल में है. बालिका गृह को सील कर दिया गया है.