महिला ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- जेठ बार-बार करता था शारीरिक शोषण

पति ने साथ देने के बजाय किया चरित्र पर शक, पिता का आरोप दामाद मांग रहा था 15 लाख रुपए।
सूरत। भेस्तान स्थित भैरवनगर में एक 32 वर्षीय महिला ने अपने ससुरालवालों की प्रताड़ना से तंग आकर फांसी लगा ली। महिला ने सुसाइड से पहले एक नोट छोड़ा है, जिसमें उसने जेठ पर शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। इसी आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज किया है। पति करता था मारपीट…
मृतका के मायके वालों ने आरोप लगाया है कि उसका पति उसके साथ मारपीट करता था। पति ने घर में इतनी दहशत बना रखी थी कि उसके तीनों बच्चे भी उससे डरते थे। पुलिस ने मामला दर्ज कर पति को गिरफ्तार कर लिया है। घटना दो सितंबर की रात दो बजे की है। जब विवाहिता कंचन गुप्ता ने ससुराल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जानकारी होते ही पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम में लिए शव को सिविल अस्पताल भेजा, लेकिन मृतका के परिवार वाले इस बात पर अड़ गए कि पहले पुलिस मामले की शिकायत दर्ज करे, जिसमें आरोपी ससुराल वालों पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया जाए। विरोध होता देख पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया, तब जाकर मंगलवार को शव का पोस्टमार्टम किया गया।
चार साल से किया जा रहा था अत्याचार
मृतका की छोटी बहन नीलम ने बताया कि सतीश और कंचन की शादी 21 नवंबर 2001 में हुई थी। 17 साल की शादी में पिछले चार साल से कंचन का मानसिक और शारीरिक शोषण किया गया। पति सतीश कंचन को क्रिकेट बैट और बेल्ट से पीटता था। इसके बाद अपने बड़े भाई संतोष से शारीरिक संबंध के बारे में ताने मारता था। कंचन इस बात से काफी परेशान थी।
सुसाइड नोट: मेरी मौत का एक मात्र कारण जेठ
मृतका कंचन गुप्ता ने सुसाइड नोट में लिखा कि खुद को फांसी लगाने का एक मात्र कारण उसका जेठ संतोष गुप्ता है। वह कई बार मौका पाकर उसका शारीरिक शोषण करता था। इस मामले में उसकी जेठानी भी जेठ का साथ देती थी। जब उसने यह बात पति सतीश गुप्ता को बताई तो उसने भी उसका यकीन नहीं किया और उल्टा उसके चरित्र पर ही शक करने लगा। यह भी लिखा है कि इस बारे में उसने अपने माता-पिता को भी बताया था मगर किसी ने भी उसकी मदद नहीं की। न ही पति ने उसकी बात मानी। अपने बच्चों की खातिर ही वह ये सब कुछ झेल रही थी।
तीनों बच्चों को पड़ोसी के यहां भेज दिया
मृतका की 9 साल की छोटी बेटी सोनल ने बताया कि पापा उसकी मां को बहुत मारते थे। घटना वाली रात को तीनों बच्चों को पड़ोसी के यहां सोने के लिए भेज दिया था। सोनल को शाम पांच बजे किसी दोस्त के पास भेज दिया। कंचन की बहन नीलम ने बताया कि हत्या होने के बाद जब सभी परिवार वाले पहुंचे तब सतीश ने उनको बताया कि घर में चोरी भी हो गई है। घर के सारे कागजात, गहने सब कुछ चोरी हो गया है।
मृतका के पिता वीरेंद्र कुमार गुप्ता ने बताया कि अगस्त में वह तीन बार जौनपुर से सूरत आए थे। रक्षाबंधन के समय जब वह कंचन से मिलने आए थे तब कंचन ने बताया था कि उसके साथ पति रोज मारपीट करता है। यह भी बताया कि कुछ दिनों पहले पति ने एक सुसाइड नोट भी लिखवाया, जिसमें उसने ऐसा लिखवाया कि वह खुद से सुसाइड कर रही है इसके लिए उसके ससुराल वालों को परेशान न किया जाए। सतीश ने कंचन के पिता को बताया था कि उनकी बेटी का मेरे बड़े भाई संतोष के साथ अवैध संबंध हैं। इस बात को वो बाहर नहीं उछालेगा, लेकिन इसके बदले उसे 15 लाख रुपए चाहिए होंगे। इसके बाद ही वह उनकी बेटी को अपनाएगा।