तीन करोड़भक्तों ने छोड़ी BJP, मेह्गाई और बेरोज़गारी से परेशान

साल 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी देश की सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी और उन्होंने बहुमत से चुनाव जीतकर एक नया इतिहास कायम किया था। तब से लेकर अब तक यह दावा किया जा रहा है कि पार्टी के कार्यकर्ता लगभग लगातार बढ़ते जा रहे हैं।
1. बीजेपी के कार्यकर्ताओं की संख्या हुई कम
भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं की संख्या के मामले में अब बीजेपी लोगों को भ्रम में डालने का काम कर रही है। दरअसल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने 2 महीनों में ही पार्टी कार्यकर्ताओं की अलग-अलग संख्या बताई है। जिससे सियासी गलियारों में एक अजीबोगरीब सी कशमकश बन गई है।
2. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने लोगों को किया भ्रमित
खबर के मुताबिक हाल ही में हुई बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बताया है कि उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं की संख्या में इजाफा किया है। अमित शाह के मुताबिक, उन्होंने पार्टी के 8 करोड़ कार्यकर्ताओं की संख्या बढ़ाकर 9 करोड़ की है।
3. अमित शाह ने जानबूझ बताई पार्टी कार्यकर्ताओं की संख्या अधिक
आपको बता दें कि जुलाई में हुए एक कार्यक्रम में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी के कार्यकर्ताओं की संख्या 11 करोड़ बताई थी जो कि अब घटकर 8 करोड़ रह गई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि बीजेपी के कार्यकर्ता पार्टी का साथ छोड़ कर जा रहे हैं।
4. इससे पहले भी बीजेपी नेता बोलते रहे झूठ
इस मामले में बीजेपी नेता मोहम्मद मीर ने पार्टी कार्यकर्ताओं की संख्या 14 करोड़ बताई थी। इस मामले को उलझता देख बीजेपी प्रवक्ता ने सफाई दी है कि पार्टी के कुल 11 करोड़ सदस्य हैं।
5. बीजेपी प्रवक्ता ने कहा- शाह की जुबान फिसली
इस पर सफाई देते हुए कहा है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की जुबान फिसल गई होगी। पार्टी में अभी तक 2 करोड़ लोगों का सत्यापन नहीं हो पाया। गौरतलब है कि बीजेपी अपने कार्यकर्ताओं को पार्टी के साथ जोड़े रखने के लिए हिंदूवादी संगठनों का सहारा ले रही है।
निष्कर्ष: आपको बता दें कि जिस तरह से पार्टी के कार्यकर्ता जिस तरह से कम हो रहे हैं। उसका नतीजा आने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को भुगतना पड़ रहा है।