पेंशन निकालने पहुंचे बीमार बुजुर्ग पर बैंक को नहीं आया तरस, लाइन में करवाया खड़ा, मौत

मामला हुसैनाबाद एसबीआई शाखा का है. वृद्धा पेंशन लेने पहुंचे रामजीत रजवार की उस समय मौत हो गई, जब वह लाइन में लगे हुए थे. स्थानीय लोग इसके लिए बैंक मैनेजर को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं.
जानकारी के मुताबिक, सिघना गांव के रहने वाले रामजीत रजवार बीमार अवस्था में वृद्धा पेंशन लेने बैंक पहुंचे थे. उनके साथ गांव की सहिया थी. सहिया बार- बार बैंक मैनेजर से रामजीत का काम जल्द करने की गुजारिश की. लेकिन बैंक मैनेजर को तरस नहीं आया. बीमार बुजुर्ग को लाइन में लगकर पैसे निकालने के लिए कह दिया. रामजीत लाइन में खड़े हुए, लेकिन कुछ ही देर में वह बेहोश होकर गिर गये. उन्हें उठाकर पास की बेंच पर लिटाया और पानी दिया गया. लेकिन तब तक उनकी जान चली गई थी.
सहिया का कहना है, “बुजुर्ग की मौत के लिए बैंक मैनेजर जिम्मेदार है. बीमारी की बात बताकर बार-बार बुजुर्ग रामजीत अपना काम जल्द करने का बैंक मैनेजर से आग्रह कर रहा था. लेकिन बैंक मैनेजर ने बुजुर्ग की एक नहीं सुनी और बुजुर्ग को यह कहते हुए लाइन में खड़ा करवा दिया कि पैसा जल्दी निकलवाने के लिए नाटक कर रहा है. लाइन में लगने के कुछ देर बाद ही बुजुर्ग की मौत हो गई.”