श्रीनगर में पत्थरबाजी में गुजरात के दो पर्यटक घायल, 22 दिन में हो चुकी है 12 की हत्या

श्रीनगर शहर के बाहरी इलाके पारिमपोरा में पथराव की चपेट में आने से गुजरात के दो पर्यटक घायल हो गए। पर्यटक गुलमर्ग से टैक्सी से श्रीनगर लौट रहे थे। इस दौरान पारिमपोरा में शरारती तत्व सुरक्षा बलों पर पत्थर बरसा रहे थे, तभी इनकी गाड़ी चपेट में आ गई। पास के अस्पताल में इलाज के बाद घायलों को छुट्टी दे दी गई। हालांकि, पुलिस ने घटना की पुष्टि नहीं की है। गैर प्रांत के लोगों पर सुरक्षा बलों की पैनी नजर
सुरक्षा बलों का कहना है कि गैर प्रांत के लोगों पर बारीक नजर रखी जा रही है। विभिन्न जिलों में काम करने वाले बाहरी राज्यों के मजदूरों की गिनती कराई जा रही है। साथ ही उनकी बस्तियों तथा रिहायशी इलाकों की सुरक्षा पुख्ता करने के प्रबंध किए जा रहे हैं।  

कब-कब निशाना बने बाहरी लोग
04 नवंबर – श्रीनगर में ग्रेनेड हमला, सहारनपुर के खिलौना विक्रेता की मौत
29 अक्तूबर- अनंतनाग जिले के बिजबिहाड़ा में कटड़ा निवासी ट्रक चालक की हत्या
29 अक्तूबर- दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने पश्चिम बंगाल के पांच मजदूरों की हत्या की
24 अक्तूबर- शोपियां जिले के चित्रगाम जैनापोरा इलाके में आतंकियों ने सेब लदे तीन ट्रकों पर बरसाईं गोलियां। दो चालकों की मौत व एक घायल।
16 अक्तूबर- शोपियां में पंजाब के दो सेब कारोबारियों पर हमला। एक की मौत व दूसरा घायल
14 अक्तूबर- शोपियां में सेब लाद रहे राजस्थान के ट्रक चालक शरीफ खान की हत्या 
14 अक्तूबर- पुलवामा में छत्तीसगढ़ के ईंट भट्ठा मजदूर सागर की हत्या 22 दिन में 12 की हत्या
अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से घाटी के शांतिपूर्ण माहौल से बौखलाए आतंकियों ने 14 अक्तूबर से अब तक यानी 22 दिनों में 12 गैर कश्मीरियों की हत्या कर दी है। इनमें सेब कारोबारी, ट्रक चालक, रेहड़ी वाले व मजदूर शामिल हैं। गैर कश्मीरियों पर हमले की सात घटनाओं को अंजाम देकर दहशत फैलाने की कोशिश की गई।