पूरे प्रदेश में यूरिया की भारी किल्लत, किसान रात-रात भर लग रहे लाइन में…विदिशा में पुलिस के साए में बांटी जा रही यूरिया

विदिशा जिले की शमशाबाद तहसील में सोमवार को यूरिया लूटने की घटना सामने आने के बाद विदिशा में मंगलवार को भारी पुलिसबल की मौजूदगी में यूरिया बांटी जा रही है। यहां के रामलीला मैदान स्थित वेयर हाउस पर सुबह से हजारों किसान लाइन में लगे हैं।
किसानों का कहना है कि वे कई दिन से सुबह से आकर लाइन में लग रहे हैं, इसके बाद भी उन्हें यूरिया नहीं मिल पा रहा है। जैसे ही लोगों को खबर लगी की आज वेयर हाउस से यूरिया दी जाएगी हजारों किसान वेयर हाउस पहुंच गए। हजारों किसानों को वेयर हाउस पर देखकर प्रशासन ने भारी पुलिसबल यहां तैनात कर दिया गया है। वेयर हाउस पर बुजुर्ग किसानों की फझीहत हो रही है। धक्का-मुक्की के चलते किसान लाइन से बाहर आ गए हैं। किसान बारेलाल ने बताया कि वे कई दिन से लाइन में लग रहे हैं, लेकिन उन्हें यूरिया नहीं मिल पा रहा है। किसान रंजन ने कहा कि युवा किसान बुर्जुग किसानों को लाइन से धक्का दे रहे हैं।
रविवार को लूट ली गईं थी बोरियां: यूरिया नहीं मिलने से परेशान किसान उग्र होते जा रहे हैं। सोमवार को शमशाबाद में किसानों ने ट्रक से यूरिया की 70 बोरी लूट लीं। यह लूट तब हुई जब शमशाबाद के विपणन संघ के वेयर हाउस पर हम्माल ट्रक से यूरिया की बोरी उतार रहे थे। जब आखिर में यूरिया की कुछ बोरी बचीं तो किसान ट्रक में चढ़ गए और बोरियां उठाकर ले गए। शमशाबाद के किसान पिछले 15 दिन से यूरिया का इंतजार कर रहे थे। इस मामले में पवन गुप्ता ने अपने हम्मालों के साथ थाने पहुंच कर शिकायती आवेदन दिया है।
गंजबासौदा में पुलिस ने लाठियां बरसाईं
सुबह रैक लगने के बाद यूरिया गंजबासौदा आया। तब देरी से आए किसानों ने अलग लाइन लगा ली। इस बात से पहले से खड़े किसान नाराज हो गए। उनका कहना था कि जो पहले आए हैं उन्हें पहले यूरिया दिया जाए। इस बात को लेकर कई किसान रोड पर आ गए और नारेबाजी शुरू कर दी। इस बीच भीड़ ज्यादा हुई तो पुलिस ने लाठियां बरसाना शुरू कर दिया। इससे किसान इधर-उधर भागे।
पुलिस के साए में किसानों को बांटा जा रहा है खाद
अशोकनगर में खाद की मारा-मारी के कारण हालात यह हो गई है कि अब पुलिस सुरक्षा के साए में खाद का वितरण किया जा रहा है। अशोकनगर पुलिस थाने से पर्चियां काटकर किसानों को खाद का वितरण हो रहा है। दरअसल वितरण केंद्र के बाहर सैकड़ों की तादाद में किसानों की भीड़ लग जाने के कारण विवाद की भी स्थिति बनी, जिससे पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ा है। नायब तहसीलदार देवदत्त गोलिया के आदेश पर विपणन संघ के एक कर्मचारी को थाने में बिठाया गया, वहीं पर बैठकर विपणन संघ का कर्मचारी पर्चियां काट रहा था। उसके बाद किसान को खाद का वितरण किया जा रहा था। नायब तहसीलदार पूरे समय पुलिस बल के साथ मौजूद रहे।
लुटने के डर से व्यापारी ने दुकान की जगह थाने से बंटवाई यूरिया
गुना/बमोरी। प्रदेश में कई जगहों पर यूरिया की लूटपाट की खबरों का असर दूसरी जगहों पर भी दिख रहा है। हालत यह है कि निजी कारोबारी अपने यहां से यूरिया बेचने का जोखिम लेने को तैयार नहीं हैं। सोमवार को यहां एक कारोबारी की दुकान के लिए आई यूरिया थाने से वितरित की गई। बताया जाता है कि अधिकारियों ने भी कारोबारी को दुकान की बजाय थाने से ही वितरण करवाने को कहा। वहीं दुकानदार को भी चिंता थी कि कहीं अव्यवस्था हो गई तो लेने के देने पड़ सकते हैं।